Headline
Motorola Razr 40 गीकबेंच और 3C प्रमाणन सूची स्नैपड्रैगन 7 जेन 1 SoC पर संकेत: विवरण
नई संसद से पहले संबोधन में, पीएम मोदी ने ‘औपनिवेशिक मानसिकता’ को तोड़ दिया | भारत की ताजा खबर
डब्ल्यूबी पुलिस ने एसआई/एलएसआई 2020 पर्सनैलिटी टेस्ट के लिए एडमिट कार्ड जारी किया
ICC WTC फाइनल: यशस्वी जायसवाल ने WTC फाइनल के लिए भारतीय टीम में रुतुराज गायकवाड़ की जगह एक स्टैंडबाय खिलाड़ी के रूप में लिया
पाकिस्तान इस्लामाबाद रावलपिंडी ने भूकंप के साथ-साथ अफगानिस्तान ताजिकिस्तान में भी 6 तीव्रता का भूकंप महसूस किया
आईएसएस ने रॉयटर्स द्वारा जलवायु प्रकटीकरण पर टोयोटा शेयरधारक प्रस्ताव का समर्थन किया
ज़ैन मलिक कृतज्ञता नोट के साथ ट्विटर पर लौटे; प्रशंसकों का रुझान ‘वी लव यू जेन’
व्हाट्सएप वीडियो कॉल के लिए बीटा टेस्टिंग स्क्रीन शेयरिंग फीचर शुरू करता है: यह कैसे काम करता है
BYJU'S जैसे Online Education Platform पर क्यों उठ रहे हैं सवाल? (BBC Hindi)

मिलिए अंतरिक्ष में जाने वाली पहली अरब महिला अंतरिक्ष यात्री रेयनाह बरनावी से


पहली अरब महिला अंतरिक्ष यात्री: रयाना बरनावी ने सऊदी अरब की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री बनने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है। उन्होंने एक्सियोम स्पेस की ओर से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) का आयोजन किया ताकि एक मिशन में भाग लेकर कीर्तिमान बनाया। बरनावी ने 21 मई को अपने मिशन की शुरुआत की।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, रयाना बरनावी के अलावा तीन अन्य लोगों ने अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी है। बरनावी निजी एक्स-2 मिशन के हिस्से के रूप में रविवार (21 मई, 2023) को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन की यात्रा पर निकली। इनके साथ सऊदी अरब के अली अलकर्णी और अपनी खुद की स्पोर्ट्स कार ‘रेसिंग’ टीम शुरू करने वाले टेनेसी के व्यवसायी जॉन श्नॉफर भी रॉकेट में सवार हैं।

पैगी व्हिटसन कर रहे हैं मिशन का नेतृत्व

रिपोर्ट के मुताबिक बरनावी उस टीम का हिस्सा हैं, साउथ स्टेट फ्लोरिडा केप कैनवेरल में कैनेडी स्पेस सेंटर से रविवार की शाम 5:37 बजे स्पेसएक्स फाल्कन 9 रॉकेट पर सवार होकर उड़ान भरी। इस समूह में नासा के एक पूर्व अंतरिक्ष यात्री पैगी व्हिटसन भी शामिल हैं, जो आईएसएस के लिए अपनी चौथी उड़ान भर रहे हैं। व्हिटसन ही इस मिशन का नेतृत्व कर रहे हैं।

आठ दिनों तक अंतरिक्ष स्टेशन पर टीम रहेगी

इसके साथ ही जॉन शॉफनर एक एविएटर थे, जिन्हें इस मिशन के लिए पायलट की जिम्मेदारी दी गई थी। बरनावी के हमवतन अली अकरनी दोनों एक्स-2 मिशन के दौरान विशेषज्ञ के तौर पर काम करेंगे। ये समूह कई तरह के प्रयोग करने के लिए लगभग आठ दिनों तक अंतरिक्ष स्टेशन पर रहा। अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से पहले अंतरिक्ष में रिकॉर्ड किए गए एक वीडियो में बरनावी ने कहा, “दुनिया भर के लोगों के लिए भविष्य बहुत ही शानदार है। मैं चाहता हूं कि आप बड़े सपने देखें, खुद पर विश्वास करें और मानवता में विश्वास करें।

जानिए कौन हैं रय्याना बरनावी

बरनावी 1988 में सऊदी अरब के जेद्दाह में पैदा हुए थे। क्रोमोनेट से एक ब्रेस्ट कैंसर रेयाना बरनावी ने स्पेस एंड टेक्नोलॉजी फील्ड की पढ़ाई कर रखी है। वह सऊदी अरब की पहली ऐसी महिला हैं, जिन्होंने यह खास पढ़ाई की है। बरनावी को कैंसर स्टेम सेल पर शोध करने का लगभग एक दशक का अनुभव है। एक्सियोम स्पेस की वेबसाइट के अनुसार, उनके पास बायोमेडिकल साइंस में कई डिग्रियां हैं, जिनमें सऊदी अरब में अल्फैसल यूनिवर्सिटी से मास्टर ऑफ बायोमेडिकल वीजा और न्यूजीलैंड में ओटागो यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ बायोमेडिकल शेयर शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: US Crime: 17 साल की लड़की ने दो नाबालिग बच्चों के साथ किया रेप, मां के साथ हुई गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top