बांस कला : 2 हजार लोन लेकर शुरू की बांस उत्पादों का व्यवसाय, कई तरह के बना रहे उत्पाद


रिपोर्ट – कुंदन कुमार

गया. जब से सरकार ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगाई तब से बांस उद्योग में काफी तेजी आई है। इसी मौके का फायदा उठाकर सविता ने अपना बिजनेस शुरू किया।

सविता ने बताया कि बाजार में बांस से बने उत्पादों जैसे बांस की बोतल, बांस से बने कप-प्लेट, ट्रे, फ्लावर पाट, फूली हुई, चम्मच, कांटा, थाली, स्ट्रॉ, वृत्ती, क्षार, सजावटी वस्तुओं की लगातार मांग बढ़ती जा रही है आजकल की अनहेल्दी लाइफ स्टाइल के बीच प्राकृतिक से बने उत्पादों की मांग लोगों के बीच तेजी से बढ़ रही है। इसलिए बांस से बने उत्पादों को सभी पसंद कर रहे हैं।

आपके शहर से (गया)


  • बहास बिहार की : अश्लील भोजपुरी अब ना चलें | शीर्ष समाचार | News18 बिहार झारखंड | समाचार

  • बिहार वेदर अलर्ट: मौसम अलर्ट के बाद किसानों की गिरावट हुई तेज, बारिश से हो सकती है मंदी

    बिहार वेदर अलर्ट: मौसम अलर्ट के बाद किसानों की गिरावट हुई तेज, बारिश से हो सकती है मंदी

  • ट्रेन अलर्ट: कृपया ध्यान दें!  जयनगर-अमृतसर स्पेशल ट्रेन 11 दिन के लिए रद्द, सहरसा-अमृतसर गरीब रथ का बदला रूट

    ट्रेन अलर्ट: कृपया ध्यान दें! जयनगर-अमृतसर स्पेशल ट्रेन 11 दिन के लिए रद्द, सहरसा-अमृतसर गरीब रथ का बदला रूट

  • ड्यूटी के दौरान सिपाही के साथ हुआ कुछ ऐसा कि साथियों पर तन दी लोडेड राइफल, जानें पूरा मामला

    ड्यूटी के दौरान सिपाही के साथ हुआ कुछ ऐसा कि साथियों पर तन दी लोडेड राइफल, जानें पूरा मामला

  • बक्सर न्यूज़: बक्सर में 100 पुरानी परंपरा का आज भी हो रहा है दायरा, जानिए हनुमानबहुल मंदिर से जुड़ी मान्यताएं

    बक्सर न्यूज़: बक्सर में 100 पुरानी परंपरा का आज भी हो रहा है दायरा, जानिए हनुमानबहुल मंदिर से जुड़ी मान्यताएं

  • भागलपुर रेलवे स्टेशन जुड़ गया विश्व स्तरीय स्टेशन, अमृत भारत योजना में शामिल हुआ

    भागलपुर रेलवे स्टेशन जुड़ गया विश्व स्तरीय स्टेशन, अमृत भारत योजना में शामिल हुआ

  • क्राइम न्यूज : महिला का नहीं मिला निशान, दोनों बच्चे हुए बरामद, परिजन ने जताई हत्या की आशंका

    क्राइम न्यूज : महिला का नहीं मिला निशान, दोनों बच्चे हुए बरामद, परिजन ने जताई हत्या की आशंका

  • भारत-नेपाल सीमा से पकड़ी गई संदिग्ध चीनी महिला, बोधगया से लौटी थी, पुलिस कर रही पूछताछ

    भारत-नेपाल सीमा से पकड़ी गई संदिग्ध चीनी महिला, बोधगया से लौटी थी, पुलिस कर रही पूछताछ

  • तेजस्वी यादव न्यूज :- सीबीआई के सामने खड़ी है तेजस्‍वी यादव की तस्‍वीर?  |  शीर्ष समाचार |  सीबीआई समन केस अपडेट

    तेजस्वी यादव न्यूज :- सीबीआई के सामने खड़ी है तेजस्‍वी यादव की तस्‍वीर? | शीर्ष समाचार | सीबीआई समन केस अपडेट

  • बिहार और झारखंड समाचार: सभी ख़बरें फटाफट अंदाज़ में |  शीर्ष सुर्खियाँ |  गांव शहर 100 खबर

    बिहार और झारखंड समाचार: सभी ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | शीर्ष सुर्खियाँ | गांव शहर 100 खबर

  • आरा के आरपीएफ जवान ने घर में घुसकर रेलकर्मी के पूरे परिवार को मारी थी गोलियां, टिप मर्डर मामलों में फांसी की सजा

    आरा के आरपीएफ जवान ने घर में घुसकर रेलकर्मी के पूरे परिवार को मारी थी गोलियां, टिप मर्डर मामलों में फांसी की सजा

2007 में आरसेटी से बंबू आर्ट एंड क्राफ्ट का ली प्रशिक्षण

गई में एक ऐसी महिला है जो बांस के उत्पादों से हजारों की कमाई कर रही है। दरअसल हम बात कर रहे हैं के इमामगंज प्रखंड क्षेत्र के पकड़ी गुरिया गांव की रहने वाली सविता गुप्ता की। सविता ने 2007 में आरसेटी से बंबू आर्ट एंड क्राफ्ट का प्रशिक्षण ली।

इसके बाद जीविका से जुडकर इस व्यवसाय को चालू कर दिया और आज सविता डिमांड के अनुसार महीने के लाख पहली कमाई कर लेती है। यह बांस से नाव, पुष्प, ट्रे, फ्लावर पाॅट, डेकोरेटिव उत्पाद, पेन स्टैंड, फ्रूट आर्किटेक्चर समेत 30 उत्पादों का निर्माण करता है। बिहार समेत अन्य राज्यों में भी स्टाल जैक्सती है। इनके पास 50 रुपये से लेकर 1 हजार रुपये तक के बंबू प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं।

असम से मंगवती है बांस, बनाता है 30 उत्पाद

बांस के उत्पाद बनाने के लिए सविता असम से मकला बांस मंगाती है। जिसकी कीमत 300 रुपये प्रति बांस है। इसके अलावा स्थानीय बांस के भी कई उत्पाद बनते हैं। न्यूज 18 स्थानीय ऐसे में बात करते हुए सविता ने आसेटी से चेक 2007 मे चार महीने का प्रशिक्षण ली थी। जिसके बाद जीविका से जुड गया और 2 हजार रुपये का लोन लेकर इस व्यवसाय में लगा। आज इससे अच्छी आमदनी हो रही है। मांग के हिसाब से महीने का लाख रुपए तक कमाई होती है।

30 तरह के बने हुए उत्पाद

बांस से 30 तरह के उत्पादों का निर्माण होता है।उसे राज्य और राज्य के बाहर लगे हुए मेला मे स्टाल लगाने की बिक्री होती है। अधिक आने पर घर का पूरा परिवार इस काम में जुड़ जाता है। साइबर ने कहा कि जब जिले और राज्य में कोई मेला लगता है या कोई उत्सव होता है, तो वहां से आर्डर आते हैं या मंत्री तथा झलक के आगमन पर भी आर्डर आते हैं।

जनवरी महीने में नकारात्मक कुमार का जब बंकेबाजार बिला गांव में पहुंचा था तो, मंत्रियों ने उन कार्यों की सराहना की थी और प्रचार किया था। सविता आज जीविका के माध्यम से कई महिलाओं को इसका प्रशिक्षण देती है।

टैग: बिहार समाचार, गया न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *